Thursday, November 28, 2013

दिल मेरा परेशान क्यों

दिल मेरा परेशान क्यों, जाने क्या हुआ है इसे 
क्यों है ये खोया खोया, हुआ है क्या आज इसे
काश के, लग जाये गले कोई और ये कहे.…
तू गम ना कर, साथ हूँ मैं सदा तेरे

दिल मेरा परेशान क्यों, जाने क्या हुआ है इसे 
क्यों है ये खोया खोया, हुआ है क्या आज इसे 

रो लूं मैं पल दो पल, हो जाये अगर ये गम कम,
पर न जाने क्यों, लगता है यूं, कोई नहीं है मेरा
मैं तन्हा हूँ, बहुत तन्हा हूँ मैं, 
हंस लू मैं भी अगर, मिल जाये प्यार तेरा 

दिल मेरा परेशान क्यों, जाने क्या हुआ है इसे 
क्यों है ये खोया खोया, हुआ है क्या आज इसे

Wednesday, November 13, 2013

मेरी मोहब्बत कि

मेरी मोहब्बत कि बस इतनी सी कहानी रही
उसकी याद ही मेरी सारी जिंदगानी रही 
कभी रो लिया, कभी लिख लिया, कभी गा लिया
बस यूं ही  बर्बाद मेरी जवानी रही 
जाते हुए वो मेरी आँखों में आंसू दे गयी 
मेरे पास उसकी बस एक ये ही निशानी रही