Sunday, March 17, 2013

ऐ खुदा

मेरी वफ़ाओ का ऐ खुदा बस इतना सिला दे।
उसकी मोहब्बत मेरे दिल से मिटा दे। 
न दर्द ही हो और न ही कोई तकलीफ,
मेरे दिल को बस पत्थर बना दे,
अगर दुखाया है मैंने भी दिल किसी का,
तू भी मेरी दुनिया मेरी हस्ती मिटा दे।
बहुत रह लिया मैं तनहा तनहा,
अब तो तू मेरा भी किसी को बना दे।
नींद नहीं आती है अब रातो को,
कभी न जागू बस ऐसी नींद सुला दे।

Wednesday, March 13, 2013

ऐ मेरे दिल

ऐ मेरे दिल, तू मुझसे यूँ रूठा न कर,
जो तेरे नसीब में नहीं उसे पाने की दुआ न कर।
तेरी चाहत ही मुझे कमजोर बना देती है,
तू उसे अपनी जान से भी ज्यादा चाहा न कर।
रफ्ता रफ्ता ही सही, तू उसे भूल ही जायेगा,
याद करके उसे, मुझे तड़पाने का गुनाह न कर।
अगर इतना ही दुःख होता है तुझे उसे खोने का,
तू कुछ देर रो ले, सबके सामने यूं मुस्कुराया न कर।

Monday, March 11, 2013

प्यार का ऐहसास


प्यार का ये कैसा ऐहसास है। 
दूर हो कर भी वो मेरे पास है।
अपनों की भीड़ में लगता है कुछ ऐसा,
जैसे बस एक वो ही मेरे लिए ख़ास हैं।
जब डूबा प्यार में तो लगा कुछ ऐसा,
समुन्दर के बीच में रहकर भी मुझे प्यास है।
काश वो भी चाहे मुझे इतना ही,
दिल को बस एक ये ही आस है।